अंगूर को संस्कृत में क्या कहते हैं?


अगर आप जानना चाहते है कि अंगूर को संस्कृत में क्या कहते हैं? तो एक दम सही स्थान पर आ पहुचे है। यहाँ आपको अंगूर के संस्कृत नाम के साथ साथ अंगूर से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां भी साझा की गयी है। अंगूर एक ऐसा फल जो हर किसी ने कभी ना कभी तो जरुर खाया है इसके लिए यहा अंगूर की पहचान करना व्यर्थ होगा।

अंगूर सीधा पेड़ से तोड़ कर खाया जा सकता है इसमें किसी प्रकार का छिलका नही होता है, अंगूर में बहुत से पोषक तत्व भी पाए जाते हैं यह गुच्छो में उगते है। अंगूर के सेवन से हृदय सम्बन्धी रोगों में राहत मिलती है, यह खासी से भी छुटकारा दिलाता है,  घबराहट, चक्कर आने वाली बीमारियों में भी फायदेमंद है।

अंगूर को संस्कृत में क्या कहते हैं?

अंगूर को संस्कृत में द्राक्षा कहते हैं। अंगूर का जूस बहुत ही सेहतमंद होता है। दुनिया में अनेक प्रकार पै अलग अलग रंग के अंगूर पाए जाए है जिनमे हरे तथा काले सबसे ज्यादा प्रचलन में है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment