बच्चे को मां का दूध कितने साल तक पिलाना चाहिए ?


स्तनपान एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। माँ का दूध केवल आम दूध नहीं होता है इसे अमृत के समान माना गया है। माँ के दूध को बच्चे के लिए बहुत जरुरी माना जाता है क्योकि उसमे बहुत जरुरी पोषक तत्व होते है जो बच्चे के लिए बहुत जरुरी होते है। माँ के दूध के कारण ही बच्चे इतनी कम उम्र में स्वस्थ रह पाते है। स्तनपान केवल बच्चे के लिए ही नहीं माँ के लिए भी लाभकारी होता है, स्तनपान कराने से हृदय रोग, और रुमेटी गठिया का खतरा कम किया है। स्तनपान करा नेवाली मा को स्तन या गर्भाशय के कैंसर का खतरा कम होता है। शुरवाती दिनों में बच्चे ज्यादा स्तनपान कर सकते है फिर धीरे धीरे वे इसे कम कर देते है। मा बनने के बाद बहुत से सवाल मन में उठ सकते है जैसे बच्चे को दूध पिलाने का सही समय क्या है ? बच्चे को मां का दूध कितने साल तक पिलाना चाहिए ? और भी बहुत कुछ जिनके जवाब आपको यहां मिल जाएंगे।

बच्चे को मां का दूध कितने साल तक पिलाना चाहिए ?

स्वास्थ्य मंत्रालय और विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार बच्चे को 6 महिने तक माँ का दूध ही देना चाहिए। शिशु के लिए 6 माह तक केवल स्तनपान करना बहुत जरूरी होता है क्योंकी शिशु के पोषक तत्वों की प्राप्ति के लिए केवल स्तनपान ही एक मात्र जरिया होता है। 6 माह के बाद बच्चे को कठोर आहार देना चालू कर देना चाहिए आप चाहे तो आहार के साथ भी बच्चे को 2 साल तक स्तनपान करवा सकती है।

बच्‍चे को मां का दूध छुड़ाने के लिए अपनाएं आसान तरीके

इतने समय से स्तनपान कर रहे बच्चे को एक दम स्तनपान करने से रोकना बहुत मुश्किल होता है इसलिए धीरे धीरे उसकी यह आदत छोड़वाने की कोशिश करना चाहिए। रात के समय बच्चे का स्तनपान करने का ज्यादा मन होता है तो ध्यान रहे की शाम के बाद उसे ठोस खाना सही मात्रा में ख़िलादे ताकि रात के समय उसे भूख ना लगे।
उसका मन भटका कर रखे जितना कम हो सके उतना कम उसे अपनी गोदी में ले। बोतल से दूध पिने की आदत डाल दे और समय ले साथ उसे भी बंद कर दे इन तरीको से आप अपने बच्चे की स्तनपान की आदत को छुड़ा सकते है। बच्चे को एक दम से स्तनपान से दूर नहीं करना चाहिए इसका असर उसकी मानसिक और शारीरिक दोनों सेहत पर पड़ सकता है ,अपने शिशु की स्तनपान करने की आदत को किसी और शिशु के स्तनपान करने की आदत से तुलना कर नहीं देखना चाहिए। मां का दूध छुडवाने का एक समय जरुर आता तब माताऐ इन तरीको को अपना सकती है।

दिन में कितनी बार स्तनपान करवाना चाहिए ?

जब तक शिशु दो माह का न हो जाए जब तक उसे 8 या 9 बार स्तनपान करना चाहिए मतलब हर डेढ़ से 3 घंटे में उसे दूध पिलाने की जरूरत होती है। और हर एक बार में लगभग 10 से 20 मिनिट तक शिशु को स्तनपान करवाना चाहिये। जैसे बच्चे की उम्र बढ़ती जाती है माँ को भी समझ आ जाता है की कब कब और कितना स्तनपान बच्चे के लिए सही होता है। हर बच्चे का वजन अलग अलग होता है इस वजह से उसके शरीर को भी अलग अलग मात्रा में पोषक तत्वों की जरूरत होती है इस वजह से साधारण से कम या अधिक स्तनपान भी कर सकता है पर अगर आपको लगता है आपका शिशु सामान्य से कम स्तनपान कर रहा है तो आपको जरूर डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

स्तनपान रोकने के बाद महिलाओं में होने वाले आम परिवर्तन

स्तनपान रोकने के बाद स्त्रियों के स्तनों में वृद्धि होना आम बात है साथ ही मूड स्विंग भी होने लगता है। हार्मोन्स में हो रही बदलाओ के कारण तनाव की भी समस्या हो सकती है। स्तनपान कराने के लिए ऊर्जा की जरूरत होती हे इस समय महिलाए अधिक खाना खाती है पर जब स्तनपान करवाना बंद कर देती है जब भी खाने की मात्रा वही होने के कारण उनके वजन में भी वृद्धि हो जाती है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment