बंदर के सीने में दिल होता है या नहीं?


बंदर एक मेरूदण्डी तथा स्तनधारी प्राणी है। इसका शरीर घने रोमों से ढका हुआ है। पूरे शरीर में केवल हाथ की हथेली ही ऐसे अंग है जो रोमों से ढके नहीं होते है। मेरुदंड का अगला भाग पूंछ के रूप में विकसित होता है। इसकी हाथ और पैर की उँगलियाँ लम्बी नितम्ब पर मांसलगदी जैसी होती हैं। आइये आपको बताते हैं कि बंदर के सीने में दिल होता है या नहीं?

बंदर के सीने में दिल होता है या नहीं?

बंदर के सीने में दिल होता है। बंदर कोई दिल रहित प्राणी नहीं है। जैसे मनुष्यों में दिल होता है, उसी प्रकार बंदरों में भी दिल होता है। जिस प्रकार मनुष्यों में दिल धड़कता है उसी प्रकार बंदरों में भी धड़कता है। बंदरों का दिल भी मनुष्यों के दिल की तरह पूरे शरीर में खून भेजने का काम करता है। यदि इस दिल की धड़कन रूक जाती है तो बंदर की मृत्यु हो जाती है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment