Carbon Ki Sanyojakta Kitni Hoti Hai ? – कार्बन की संयोजकता कितनी होती है ?


विज्ञानं प्रतिदिन तरक्की कर रहा है, हर रोज नए नए अविष्कार हो रहे है हमारे जीवन को सुखद और आरामदायक बनाने में विज्ञानं का अत्यधिक महत्त्व है। विज्ञानं के कारण ही आज हम बहुत सी चीजों का अविष्कार कर पाए है जैसे वाहन, मोबाइल, टीवी, कंप्यूटर आदि। विज्ञानं के अगर लाभ है तो इसकी हानियाँ भी है विज्ञान ने मानव को नुकसान पहुंचाने वाले यंत्र भी दिए है। विज्ञान के भौतिक विज्ञान , जीव विज्ञान और रसायन विज्ञान आदि भाग होते है। रसायन विज्ञान में तत्वों के बारे में पढ़ाया जाता है इन्ही तत्वों मेसे एक होता है कार्बन जिसकी सयोजकता कितनी होती है यह जानने के लिए आप इस पेज पर आए है तो हम इसमें आपकी पूरी मदद करेंगे और आपको बताएंगे की कार्बन की संयोजकता कितनी होती है ? ( Carbon Ki Sanyojakta Kitni Hoti Hai )

तत्वों की संयोजकता क्या है?

तत्वों की संयोजन शक्ति संयोजकता कहलाती है। संयोजकता वह संख्या है जो यह दर्शाती करती है कि कोई परमाणु कितने इलेक्ट्रॉन प्राप्त सकता है, या खोता है या साझा करता है यह तब होता है जब वह अपने ही तत्व के परमाणु से या किसी अन्य तत्व के परमाणु से बन्धन बनाता है।

कार्बन (Carbon) के उपयोग

सभी प्रकार के ईंधन जैसे की कोयला , तेल , प्राकतिक गैस कार्बन की मदद से ही निर्मित होते है। कार्बन का मुख्य उपयोग ग्रेफाइड के रूप में होत्ता है जो कोक के उत्पादन और स्टील के उत्पादन में मदद करता है । कार्बन सेल बैटरी के कोर के निर्माण में भी प्रयोग किया जाता है ।

कार्बन कहाँ पाया जाता है?

कार्बन मुक्त अवस्था में हीरा, ग्रेफाइट तथा कोयले के रूप में मिलता है। संयुक्तअवस्था में यह धातु के कार्बोनेट, बाइकार्बोनेटस, CO2 हाइड्रोकार्बन, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट तथा अन्य जटिल यौगिकों के रूप में मिलता है । कार्बन को एक सार्वभौमिक तत्व (Universal Element) भी कहा जाता है।

कार्बन की संयोजकता कितनी होती है ? ( Carbon Ki Sanyojakta Kitni Hoti Hai )

कार्बन की सयोजकता 4 है। क्योकि कार्बन के बाहरी कोश में चार इलेक्ट्रॉन होते हैं तथा उत्कृष्ट गैस विन्यास को प्राप्त करने के लिए इसको चार इलेक्ट्रॉन प्राप्त करने या खोने की जरूरत होती है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment