एकवचन बहुवचन शब्द हिंदी में 100


आज के इस लेख हम जानेंगे कि वचन क्या होते है? इनके कितने प्रकार होते है? और इनके 100 उदाहरणों को भी आपके सामने रखेंगे। आइये जानते है एकवचन बहुवचन शब्द हिंदी में 100

वचन किसे कहते हैं?

किन्ही शब्दों का वो प्रारूप जो उसके एक या उससे अधिक होने का ज्ञान करवाता है वचन कहलाता है। वचन को ‘संख्यावाचन’ शब्द’ भी कहा जाता है।

उदाहरण

  • खिलाडी खेल रहा है।
  • खिलाडी खेल रहे है।

वचन के प्रकार

वचन के दो प्रकार होते है। पहला एकवचन और दुसरा बहुवचन।

1. एकवचन

यदि किसी शब्द से यह ज्ञात हो की वह केवल एक व्यक्ति, एक स्थान आदि का बोध करवा रहा है तो वहा एकवचन होता है।

जैसे- लड़का, कार , शहर आदि। 

2. बहुवचन

यदि किसी शब्द से यह ज्ञात हो की वह किन्ही दो या उससे अधिक व्यक्तियों, एक स्थानों आदि का बोध करवा रहा है तो वहा एकवचन होता है।

जैसे- लड़के, कारे, पुस्तकें, आदि। 

एकवचन बहुवचन शब्द हिंदी में 100

साईकिल साईकिलें
सड़क सडकें
सखीसखियाँ
गधा गधे
रेखारेखाएँ
सब्जी सब्जियां
सपेरासपेरे
चूहा चूहे
थालीथालियाँ
नालीनालियां
मनुष्यमनुष्यों
नारीनारियां
गाड़ीगाड़ियां
तकियातकिये
कुर्सीकुर्सियां
किताबकिताबें
पत्तीपत्तियाँ
जंगलजंगलों
फल फलों
रातरातों
काम कामों
कपड़ाकपड़े
घरघरों
लड़का लड़के
नावनावों
पंडितपंडितों
भैंस भैंसे
चश्मा चश्मे
घड़ीघड़ियाँ
पुस्तकपुस्तकें
तस्वीरतस्वीरें
चुम्बकचुम्बकें
कर्मचारीकर्मचारियों
संस्थानसंस्थानों
उद्योगउद्योगों
कम्पनीकम्पनियां
दूल्हादुल्हे
घोड़ाघोड़े
डिब्बाडिब्बे
चोरचोरों
टोपीटोपियाँ
झंडाझंडे
खिड़कीखिड़कियाँ
पंखापंखे
दरवाजादरवाजे
नलनलों
पौधापौधे
पेड़पेड़ों
बिल्लीबिल्लियाँ
हड्डीहड्डियां
टेबलटेबलों
ग्रहग्रहों
पैरपैरों
परीपरियां
चप्पलचप्पलें
देशदेशों
मशीनमशीनें
व्यपारीव्यापारियों
कुर्ताकुर्ते
मूर्तिमूर्तियाँ
घंटीघंटियाँ
बक्साबक्से
खंभाखंभे
समोसासमोसे
गुलामगुलामों
विद्यालयविद्यालयों
शिक्षकशिक्षकों
विद्यार्थीविद्यार्थियों
जूताजूते
दिवारदिवारें
फिल्मफिल्में
कलाकारकलाकारों
रानीरानियाँ
दासीदासियाँ
पहियापहिये
केलाकेले
पक्षीपक्षियों
नेतानेताओं
तीलीतीलियाँ
दियादिये
अपराधीअपराधियों
डॉक्टरडॉक्टरों
वकीलवकीलों
दांतदांतों
भाषाभाषाएँ
बोलीबोलियाँ
विषयविषयों
जानकारीजानकारियां
ग्रन्थग्रंथों
खेतखेतों
फसलफसलें
जलाशयजलाशयों
वानरवानरों
चरखाचरखे
बंदूकबंदूकें
दवाईदवाइयां
सपनासपने
बोतलबोतलें
मक्खीमक्खियाँ
मटकामटके

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment