गणेश जी को तुलसी क्यों नहीं चढ़ती? जानिए क्या है इसके पीछे की कथा।


हिन्दू धर्म में किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले भगवान श्री गणेश की पूजा की जाती है और गणेश चतुर्थी पर 10 दिनों के लिए घर में श्री गणेश जी की स्थापना की जाती है। गणेश जी की पूजा में दूर्वा, फूल और शमी पत्ते आदि चढ़ाएं जाते हैं, लेकिन गणेश पूजा में कभी तुलसी का उपयोग नहीं किया जाता। यदि आपके मन में यह सवाल आ रहा है कि गणेश जी को तुलसी क्यों नहीं चढ़ती? तो जानिए क्या है इसके पीछे की पूरी कथा –

गणेश जी को तुलसी क्यों नहीं चढ़ती?

गणेश जी की पूजन अर्चन ज्ञान प्राप्ति, धन लाभ और अच्छी सेहत की प्राप्ति के लिए किया जाता है। शिव महापुराण के अनुसार, गणेश जी का शरीर लाल और हरे रंग का होता है। गणेश जी को तुलसी क्यों नहीं चढ़ती इसके पीछे पौराणिक कथा है जो इस प्रकार है –

एक दिन देवी तुलसी गंगा घाट के किनारे से गुजर रही थीं। उस समय गणेश जी वहां पर ध्यान कर रहे थे। गणेश जी को देखते ही तुलसी उनकी ओर आकर्षित हुई और तुलसी ने भगवान गणेश से विवाह करने की प्रार्थना की! लेकिन गणेशजी ने मना कर दिया। इस वजह से तुलसी क्रोधित हो गईं और उन्होंने गणेश जी को दो विवाह होने का शाप दे दिया। इस शाप की वजह से गणेशजी भी क्रोधित हो गए और उन्होंने भी तुलसी को शाप देते हुए कहा कि तुम्हारा विवाह एक असुर से होगा।

असुर से विवाह होने का श्राप सुनकर तुलसी दुःखी हो गई। तुलसी ने गणेशजी से क्षमा मांगी। तब गणेशजी ने कहा कि तुम्हारा विवाह असुर से होगा, लेकिन तुम भगवान विष्णु को प्रिय रहोगी। तुमने मुझे श्राप दिया है, इस वजह से मेरी पूजा में तुलसी वर्जित ही रहेगी।

इसी श्राप के कारण गणेश जी का विवाह रिद्धि और सिद्धि से हुआ और उनके दो पुत्र शुभ और लाभ हुए। कार्तिक मास में तुलसी जी का विवाह शालिग्राम जी के साथ किया जाता है। साथ ही देव-उठावनी एकादशी के दिन इसे तुलसी विवाह के रूप में मनाया जाता है।

गणेश जी को प्रसन्न करने के उपाय-

यदि आप भगवान गणेश जी प्रसन्न कर उनसे विद्या और बुद्धि का वरदान पाना चाहते है तो उनकी प्रिय वस्तुए उन्हें अर्पित करे –

  • सिंदूर – गणेश जी को सिंदूर अति प्रिय है। यदि आप गुरूवार के दिन हल्दी और सिंदूर को मिला कर गणेश जी को अर्पित करे तो शुभ फल प्राप्त होंगे।
  • मोदक – मोदक गणेश जी का सबसे प्रिय पकवान है। उनके प्रसाद के रूप में मोदक चढ़ाइए और मनचाह फल पाए।
  • दूर्वा – गुरुवार के दिन 11 दूर्वा की पत्तियां गणेश जी के पेट पर चिपकाये और धन सम्बन्धी सारी समस्याओं से मुक्ति पाइए।

आशा है, कि इन उपायों को आप अवश्य ही प्रयोग करेंगे और गणेश जी की कृपा आप पर और आपके परिवार पर सदा बनी रहे।

FAQs

गणेश जी को क्या नहीं चढ़ाना चाहिए?

गणेशजी को पूजा में केतकी का फूल, बासी फल-फूल एवं तुलसी नहीं चढ़ाना चाहिए।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment