इंदिरा गांधी परमाणु अनुसंधान केंद्र कहां है?


आज का प्रश्न हैं कि इंदिरा गांधी परमाणु अनुसंधान केंद्र कहां है?

इंदिरा गांधी परमाणु अनुसंधान केंद्र कहां है?

परमाणु ऊर्जा विभाग की दूसरी सबसे बड़ी इकाई के रूप में जानी जाने वाला इंदिरा गांधी परमाणु अनुसंधान केंद्र कल्पाक्कम, चेन्नई में है। इसकी स्थापना 1971 में की गयी थी, उसका उद्देश्य प्रौद्योगिकी के विकास की दिशा में निर्देशित वैज्ञानिक अनुसंधान और उन्नत अभियांत्रिकी के व्यापक बहु-विषयक कार्यक्रम का संचालन करना है। IGCAR ने फास्ट ब्रीडर रिएक्टर एफ बी टी आर को अभिकल्पित भी किया था यह प्लूटोनियम और प्राकृतिक यूरेनियम मूलांश के साथ देशी मिश्रित ईंधन का प्रयोग करता है। भारत का पहला न्यूट्रॉन रिएक्टर कामिनी भी इसी अनुसन्धान में विकसित किया गया था। उत्कृष्ट फास्ट ब्रीडर प्रजनक प्रौद्योगिकी के मामले में हम दुनिया के सांतवे देश है जहां इस तरह की प्रौद्योगिकी उपस्थित है। इस अनुसंधान में २५११ कर्मचारी कार्यरत है, IGCAR के निदेशक का नाम एके भादुड़ी हैं, डॉ. एसएवी सत्य मूर्ति की सेवानिवृत्ति के बाद इन्होने पदभार ग्रहण किया है। 1 जुलाई 2016 से यह पद पर है। यह समूह कम्प्यूटिंग और डेटा संचार सुविधाओं के पूर्ण दायरे, प्रतिकृति प्रकार पीएफबीआर ऑपरेटर प्रशिक्षण सिम्युलेटर का विकास और प्रबंधन जैसी गतिविधियों में शामिल है। केंद्र का वार्षिक परिव्यय लगभग 8450 मिलियन रुपये है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment