पृथ्वी के तापमान में वृद्धि होने का क्या कारण है?


समय के साथ पृथ्वी का तापमान बढ़ता जा रहा है यह एक बुरा संकेत है, इसका असर मानव जीवन पर पड़ रहा है, साथ ही वातावरण में तूफान, बाढ़, जंगल की आग, सूखा और लू का खतरा भी बड़ा है। क्या आप पृथ्वी के तापमान में वृद्धि होने का क्या कारण है यह जानते हैं?

पृथ्वी के तापमान में वृद्धि होने का क्या कारण है?

पृथ्वी पर बढ़ते तापमान का कारण है वातावरण में बढती ग्रीनहाउस गैसें, ग्रीनहाउस गेसों में कार्बन डाइऑक्साइड और मीथेन जैसी गैसें शामिल है। यह गेसे कारखानों से निकलती है, कचरे को जलाने से आती है, मानवो द्वारा उत्सर्जित की जाती है। जलवायु परिवर्तन प्राकृतिक कारणों से भी प्रभावित हो रहा है जिसमे सौर विकिरण में बदलाव, टेक्टोनिक संचलन, ज्वालामुखी विस्फोट आदि शामिल हैं। इनके अलावा भूमंडलीय ऊष्मन भी जलवायु परिवर्तन का कारण है।

पृथ्वी पर तापमान के बढ़ने से कई बिमारिया जन्म लेती है, कृषि प्रभावित होती है, जिस कारण फसल की खेती में भी कमी आई है, धरती पर मोजूद बर्फ पिघलने लगती है जिससे कई शहर पानी में डूब रहे हैं और भविष्य में कई शहर जैसे मुंबई पानी में पूर्ण रूप से डूब जाएँगे, वायुमंडल में CO2 की मात्रा बड़ रही है, बढ़ते तापमान से पशु पक्षी भी प्रभावित हो रहे हैं।

पूरी दुनिया की सरकारे ग्लोबल वार्मिंग से बचने के प्रयास कर रही है और लोगो को जागरूक कर रही है। इससे बचने के लिए पेड़ लगाना, वाहन से ज्यादा पैदल चले, कचरे का निपटारा सही तरीको से करें, कम से कम बिजली का उपयोग करें, पर्यावरण को नुकसान पहुचाने वाली चीजो का इस्तेमाल ना करें, पानी बचाए, वायु प्रदुषण ना करें आदि काम शामिल है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment