अभिजीत मुहूर्त क्या होता है? इसमें क्या करें और क्या नहीं?


हिन्दू धर्म में प्रत्येक कार्य मुहूर्त के अनुसार किया जाता है। माना जाता है कि सही मुहूर्त में किया गया कार्य सफल होता है एवं शुभ फल देता है। एक दिन में 15 व एक रात में 15 मुहूर्त होते है इस प्रकार कुल 30 मुहूर्त होते हैं। इस लेख में हम जानेंगे कि अभिजीत मुहूर्त क्या होता है (What is Abhijeet Muhurat) एवं इसके क्या परिणाम होते हैं।

अभिजीत मुहूर्त क्या होता है?

What is Abhijeet Muhurat: अभिजीत शब्द का अर्थ होता है “विजेता”। सनातन हिन्दू धर्म में समय का बहुत महत्व है। माना जाता है, सही समय से किये गए कार्य की सफलता निश्चित है। तिथि, मुहूर्त, नक्षत्र आदि के आधार पर ही यह पता लगाया जाता है कि किस समय पर किस कार्य को करने से सफलता मिलेगी। मुहूर्त का पता लगाना किसी सामान्य व्यक्ति के समझ की बात नहीं है इसलिए अभिजीत मुहूर्त को सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त माना जाता है। यह दिन में एक बार अवश्य आता है और किसी भी प्रकार का शुभ कार्य करने के लिए यह अच्छा माना जाता है।

कब आता है अभिजीत मुहूर्त?

हिन्दू धर्मग्रंथों के अनुसार सूर्योदय से दुसरे दिन के सूर्योदय तक कुल 30 मुहूर्त होते है, जिसमें से 15 सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त तक तथा 15 सूर्यास्त से लेकर अगले सूर्योदय तक होते हैं। इनमे अभिजीत मुहूर्त अत्यंत ही शुभ तथा फलदायी है। अभिजीत मुहूर्त दिन के मध्य समय से करीब 24 मिनट पहले प्रारम्भ होता है और मध्य समय से 24 मिनट बाद समाप्त होता है। यदि सूर्योदय ठीक 5:30 बजे हुआ हो तो दोपहर 11:30 बजे से ठीक 24 मिनट पहले प्रारम्भ होकर यह दोपहर 11:54 पर समाप्त होगा। यहाँ यह कहा जा सकता है कि अभिजीत मुहूर्त का समय सूर्योदय के अनुसार परिवर्तित होता है।

अभिजीत मुहूर्त में क्या करें और क्या नहीं?

अभिजीत मुहूर्त सभी प्रकार के शुभ कार्यों के लिए सही है। जैसे कोई नया कार्य प्रारंभ करना, दुकान या व्यपार की शुरुवात, पूजा या अनुष्ठान प्रारंभ करने, धन संचय के लिए नयी योजना में निवेश आदि। ज्योतिष शास्त्र के जानकार से सलाह के आधार पर इस समय पर गृह प्रवेश, मुंडन कार्य, विवाह आदि का कार्य भी किया जा सकता है।

यदि आप यात्रा करना चाहते है और यात्रा की दिशा दक्षिण है तो आपको इस मुहूर्त में यात्रा के लिए नहीं निकलना चाहिए। और बुधवार को अभिजीत मुहूर्त में किसी भी प्रकार का नवीन या शुभ कार्य नहीं करे इससे आपको शुभ फल प्राप्त नहीं होंगे।

तो दोस्तों यह थी चर्चा अभिजीत मुहूर्त के बारे में, कमेन्ट में जरुर बताइएगा कि आपको यह जानकारी कैसे लगी और यदि आपके पास इससे जुड़े कुछ और तथ्य भी हैं तो वो भी आप हमें बता सकते हैं।

Note: वैसे तो अभिजीत मुहूर्त अत्यंत उत्तम है परन्तु फिर भी एक बार अपने पंडितजी से विचार विमर्श अवश्य कर लीजिये ताकि आपके कार्य में किसी भी प्रकार का कोई व्यवधान उतपन्न न हो।

FAQs

अभिजीत मुहूर्त में क्या कर सकते हैं?

अभिजीत मुहूर्त में किया गया कोई भी शुभ कार्य सफल ही होता है। आप किसी नए प्रतिष्ठान अथवा व्यापार की शुरुआत, मुंडन, धन संग्रह, कोई पूजा अनुष्ठान या विवाह आदि कार्य भी इस मुहूर्त में कर सकते हैं।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment