परमार्थ में कौनसी संधि है?


दो वर्णों या ध्वनियों के संयोग से उत्पन्न जो विकार यानिकी परिवर्तन को सन्धि ही कहते हैं। सन्धि करते समय कभी–कभी एक अक्षर में, कभी–कभी दोनों अक्षरों में बदलाव होता है और कभी–कभी दोनों अक्षरों के स्थान पर एक तीसरा अक्षर ही बन जाता है। अगर आप संधि के बारें में जानने में रुचि रखते हैं तो यह लेख आपकी मदद कर सकता है क्योकि इसमें कुछ महत्वपूर्ण शब्द की संधि बताई गयी है और अधिक शब्दों की संधि जानने के लिए आप हमारे सर्च बार का प्रयोग कर सकते हैं। आज आप इस पोस्ट में यह जानेंगे कि परमार्थ में कौनसी संधि है?

परमार्थ में कौनसी संधि है?

परमार्थ में दीर्घ संधि है। एवं इसका संधि विच्छेद परम + अर्थ है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment