चाणक्य नीति की 10 बातें : आपको सफल बना देगी


चाणक्य एक विद्वान पंडित थे जिन्हे अपनी तीक्ष्ण बुद्धि के कारण जाना जाता है, वे अपने बुद्धि कौशल के कारण किसी भी परिस्थिति के संबंध में उपयोगी नीतियां दिया करते थे जो उस समय तो काफी सटीक थी परन्तु आज के समय में भी प्रासंगिक है। इतने वर्ष पहले लिखी हुई बातें आज भी सार्थक सिद्ध होती हैं। चाणक्य को राजनीती से लेकर समाज तक हर वर्ग में काफी अनुभव था जिसके आधार पर वे नीतियां साझा करते रहते है। साथ ही वे जीवन, मित्र, जीवन साथी, शत्रु, पड़ोसी, धन, माता-पिता आदि पर आधारित नीतियां बता चुके है जो आज भी प्रयोग में लाई जा सकती है। आज हम बात करने वाले है चाणक्य नीति की 10 बातें जो आपको सफल बना देगी।

चाणक्य नीति की यह 10 बातें आपको सफल बना देगी

1. क्रोध पर संयम रखे

chanakya niti anger

क्रोध करना जीवन को नकारात्मक बनाता है। क्रोध करने से आपके काम बिगड़ जाते है साथ ही अपनों से सबंध भी खराब हो सकते हैं। यदि आपको अत्यधिक क्रोध आता है तो आप संकट में भी पड़ सकते हैं, साथ ही आपका किसी के साथ भी अनावश्यक विवाद हो सकता है जो दुःख का कारण बन सकता है। क्रोध करने से शरीर पर भी बुरा असर पड़ता है। क्रोध आने के बहुत से कारण हो सकते हैं पर मुख्य रूप से क्रोध का कारण यह होता है कि जब आपके मन के विरुद्ध कोई कार्य होता है तो क्रोध आता है। कभी-कभी कोई व्यक्ति बिना वजह आपको परेशान करता है या आपके कार्य में बाधा डालता है तब क्रोध आता है। ऐसी ही परिस्थितियों में हमे क्रोध पर संयम रखना चाहिए और शांत मन से निर्णय लेना चाहिए।

2. अनुशासन में रहें

chanakya niti discipline

चाणक्य का कहना है कि अनुशासन जीवन को सरल और सफल बनाता है यदि आपके जीवन में अनुशासन नाम की कोई चीज नहीं है तो आप कभी सफल नहीं हो सकेंगे। अनुशासन इसलिए जरुरी है क्योंकि जब आप अनुशासन में रहते है तो आपकी एक अलग ही छवि निखर कर आती है जो लोगो को काफी प्रभावित करती है साथ ही समय के महत्व को समझने में अनुशासन का हाथ होता है। जीवन को अनुशासन के साथ व्यतीत करने में कभी भी कोई समस्या नहीं होती है आपको केवल अपने मन को शांत रखना है और किसी भी परिस्थिति में इस संकल्प को नहीं भूलना है कि हमें अनुशासन का पालन करना है।

3. आलस है सफलता का दुश्मन

chanakya niti laziness

आलस आपके जीवन को बर्बाद कर सकता है, यदि आप समय पर अपने कार्य पूर्ण नहीं करेंगे तो आप समस्याओं से घिर जाएंगे। आलस को त्यागना बहुत जरूरी होता है वरना आपके साथी ही आपका साथ छोड़ देंगे। आलस करने से शरीर भी नष्ट होता है और समय भी! एक बार यदि समय गुज़र जाता है तो पुनः नहीं आता है। इसीलिए आलस करे बिना अपने कार्य को समय से करना चाहिए।

4. धोखा नहीं देना चाहिए

chanakya niti fraud

असत्य के आधार पर जीवन व्यतीत करना असम्भव है यदि आप किसी को धोखा देते हैं तो आपकी छवि एक खराब इंसान की बन जाती है जिस पर कोई विश्वास नहीं करता है इससे आपके व्यापार से लेकर निजी जीवन पर भी प्रभाव पड़ता है। सफल बनने के लिए लोगो का विश्वास जीतना जरुरी होता है।

5. अहंकार

chanakya niti arrogance

अहंकार जीवन को एक गहरी खाई में धकेल देता है जहां केवल अंधेरा होता है। अर्थात यदि आप अहंकार करते हैं तो आपके साथ कोई रहना पसंद नहीं करेगा आप अकेला महसूस करने लगेंगे। जैसा कि हम जानते हैं कि रावण को अपनी शक्तियों का अहंकार था जिस वजह से उसका अंत हो गया। चाहे धन हो, बुद्धि हो, या समाज में नाम हो अहंकार करने से ये सभी नष्ट हो जाते हैं या इनकी कोई अहमियत नहीं रहती है।

6. कभी लोभ न करें

chanakya niti greed

लोभ या लालच जीवन में असंतुलन पैदा करता है जिससे कि आप हमेशा परेशान रहने लगते हैं। कभी भी लोभ नहीं करना जितना मिल रहा है उसमे संतुष्ट रहना चाहिए। ऐसा नहीं है आपको आगे बढ़ने की चाह छोड़ कर स्थिरता को अपना लेना चाहिए लोभ ना करने का अर्थ है कि अगर चीज़ें परिपूर्ण हैं तो उनकी और इच्छा करना व्यर्थ है।

7. शिक्षा

chanakya niti education

शिक्षा का होना जरुरी है इससे आप बुद्धिमान बनते हैं और विषम/अविषम परिस्थितियों में निर्णय लेने में सक्षम होते है। अगर आप शिक्षित हैं तो आपको समस्याओ से निकलने में आसानी होती है साथ ही समाज में सम्मान भी प्राप्त होता है। शिक्षा को बड़ा महत्व देना चाहिए इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि अपने घर के साथ-साथ समाज भी शिक्षित बने।

8. दूसरों की गलतियों से सीखें

chanakya niti learn from msitakes

चाणक्य का कहना है कि हमें दुसरो की गलतियों से सीखना चाहिए ताकि हम वो गलती ना करें और उससे होने वाले नुकसान से बच सकें। इस संसार में बहुत से लोग हैं जो दूसरे लोगों की गलतियों से होने वाले नुकसान को नज़रअंदाज़ कर देते हैं पर हमे ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए।

9. अच्छी संगति चुनें

chanakya niti friendship

आपके मित्र अच्छे और उच्च विचारों वाले होने चाहिए क्योंकि दोस्तों की आदतों और अनुभवों का असर हमारे जीवन पर भी पड़ता है। दोस्त हम चुनते हैं इसलिए शुरुआत में ही दोस्त को परख लेना चाहिए यदि आपके दोस्त गलत गतिविधियों में रूचि रखते हो तो उन्हें तुरंत छोड़ देना चाहिए। मित्र हमेशा सोच समझ कर बनाना चाहिए।

10. अपनी क्षमता का सही आंकलन

chanakya niti strength

अपनी क्षमता का सही आंकलन करें तभी आप सफलता को प्राप्त कर पाएंगे। अपनी कमियों और खूबियों की जानकारी सबसे पहले स्वयं हमें होनी चाहिए। ऐसा करने से लक्ष्य को प्राप्त करने में आसानी होती है। इस संसार में हर किसी की अलग-अलग क्षमता होती है। उसी के आधार पर हम जीवन में आगे बढ़ते हैं और अपने लक्ष्यों को प्राप्त करते हैं। अपनी क्षमता का आकलन करने से आपको यह ज्ञात होता है कि आपको कहां-कहां सुधार करने की आवश्यकता है।

उम्मीद है आप चाणक्य नीति की इन बातों को अपने जीवन में आत्मसात करेंगे। चाणक्य नीति की यह 10 बातें आपको जीवन सफल बना देगी।

FAQs

कैसे लोगों से दूर रहना चाहिए?

चाणक्य नीति के अनुसार ऐसे लोगों से दूर रहना चाहिए जो गलत काम करते हों, दूसरों का अपमान करते हों एवं बेशर्म हों।

चाणक्य को राजा क्यों नहीं बने?

चाणक्य में कभी कपट या लालच नहीं था। वे केवल अपने पिता का बदला लेना चाहते थे और चन्द्रगुप्त मौर्य के रूप में एक कुशल शासक वह पहले ही मगध के लिए खोज चुके थे।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

11Shares

2 thoughts on “चाणक्य नीति की 10 बातें : आपको सफल बना देगी”

Leave a Comment