जानिए धारा 302 कब लगती है?


धारा 302 के बारें में बहुत से लोग जानते हैं पर हो सकता है कि आप क़ानून से सम्बन्धित कम जानकारी रखते हो जिस कारण आपको IPC की धाराओ के बारें में ज्यादा पता ना हो। तो आइये जानते हैं कि धारा 302 कब लगती है?

धारा 302 कब लगती है?

धारा 302 तब लगती है जब कोई व्यक्ति किसी की हत्या कर देता है, तो उस पर धारा 302 लगती है इस धारा के तहत उस अपराधी को आजीवन कारावास होता है और जुर्माना भरना होता है। यह एक गैर-जमानती, संज्ञेय अपराध है और यह केवल सत्र न्यायालय द्वारा ही विचारणीय है। इस धारा के तहत सजा तभी दी जाती है तब यह सिद्ध हो जाता है कि इस इंसान ने हत्या की है उसका इरादा हत्या करने का ही था, अर्थात यदि कोई मामला इस धारा की सभी शर्तों को पूर्ण करता है इसी स्थिति में यह धारा लगती पर यदि मामला धारा 302 की शर्तों को पूरा नहीं करता है, तो इस धारा के अतिरिक्त दूसरी धारा का उपयोग किया जाता है। जैसे गेर इरादतन हत्या, रक्षा में की गयी हत्या की धाराएं आदि।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment