100 पर्यायवाची शब्द हिंदी में


पर्यायवाची शब्द का अर्थ होता है वो शब्द जो होते तो अलग है पर उनका अर्थ एक ही होता है। इन शब्दों का उपयोग वाक्य को और सरल और स्पष्ट बनाने में किया जाता है, जैसे किसी शब्द का प्रयोग बार बार किया जा रहा है तो वह वाक्य या कविता पढ़ने में थोड़ी अजीब सी लग सकती है इसीलिए इन पर्यायवाची शब्दों का उपयोग किया जाता है। इस लेख में हम आपके लिए लाये हैं महत्वपूर्ण 100 पर्यायवाची शब्द हिंदी में जो आपको कही ना कही काम आ सकते हैं।

100 पर्यायवाची शब्द हिंदी में

  1. आश्रय – अवलंब, सहारा, आधार, प्रश्रय, आसरा।
  2. अस्त – ओझल, गायब, छिपना, तिरोहित।
  3. आँख – नेत्र, नयन, चक्षु, दृग, लोचन, अक्षि, नजर, दृष्टि, विलोचन।
  4. आँसू – अश्रु, नयनजल, नेत्रनीर, नैत्रज, दृगजल, दृगम्बु।
  5. कमर – कटि, श्रोणि, लंक, मध्यांग।
  6. आन – प्रण, प्रतिज्ञा, हठ, शपथ, घोषणा, मर्यादा।
  7. आभूषण – जेवर, गहना, भूषण, आभरण, मंडन, अलंकार।
  8. आत्मा – चैतन्य, विभु, जीव, सर्वज्ञ, सर्वव्याप्त, देव, चेतनतत्त्व, अन्तःकरण।
  9. कवि – कल्पक, सृष्टा, काव्यकार, रचनाकार।
  10. कामदेव – काम, अनंग, मदन, मनोज, मन्मथ, कन्दर्प, स्मर, रतिपति, पुष्पधन्वी, मयन, मीनकेतु, पंचशर, मकरध्वज, मनसिज, पुष्पशायक, पंचबाण, मनोभव, कुसुमायुध, मार, सारंग, दर्पक, शम्बरारि।
  11. कष्ट – दुःख, दर्द, पीड़ा, मुसीबत, व्यथा, कठिनाई, व्याधि, कलेश, विषाद, संताप, वेदना, यातना, यंत्रणा, पीर, भीर, संकट, शोक, श्वेद, क्षोम, उत्पीड़न।
  12. अनुमति – इजाजत, आज्ञा, अनुज्ञा, मंजूरी, स्वीकृति।
  13. अप्सरा – देवांगना, सुरांगना, देवकन्या, सुखनिता, अरुणप्रिया।
  14. अवनति – अपकर्ष, ह्रास, गिराव, उतार।
  15. उदास – दुखी, रंजीदा, विरक्त, अनमना, अन्यमनस्क।
  16. उद्देश्य – लक्ष्य, ध्येय, हेतु, प्रयोजन।
  17. किनारा – तट, तीर, कूल, पुलिन, पर्यंत, बेलातट।
  18. कुबेर — यक्षराज, धनाधिप, धनद, धनपति।
  19. कुत्ता – श्वान, शुनक, गंडक, कूकर, श्वजन।
  20. कलंक – लांछन, दोष, दाग, तोहमत, धब्बा, कालिख पोतना।
  21. क्रूर – निष्ठुर, निर्मोही, बर्बर, नृशंस, निर्दयी।
  22. कलश – घट, घड़ा, गागर, गगरी, मटका, घटिका, कुंभ, कुट।
  23. कपड़ा – वस्त्र, चीर, वसन, अंबर, पट, कर्पट, दुकूल, परिधान।
  24. कृष्ण – श्याम, कन्हैया, वासुदेव, मोहन, राधास्वामी, नंदलाल, मुरलीधर, बनवारी, माधव, मधुसूदन, गिरिधर, गोपाल, गोपीवल्लभ।
  25. कृतज्ञ – आभारी, उपकृत, अनुगृहीत, कृतार्थ, ऋणी।
  26. कृषक – किसान, हलवाहा, भूमिसुत, खेतिहर, कृषिजीवी, हलधर, अन्नदाता, भूमिपुत्र।
  27. क्रोध – गुस्सा, रीस, अमर्ष, रोष, शेष, कोप, कोह, प्रतिघात।
  28. कर्ज – ऋण, उधार, देनदारी, देयता।
  29. आश्रम – कुटी, विहार, मठ, संघ, अखाड़ा।
  30. आकाश – नभ, अंबर, व्योम, गगन, अनंत, शून्य, तारापथ, अन्तरिक्ष, दुष्कर, आसमान, महानील, द्यौ, शून्यरव, दिव, अभ्र, सुखर्त्यन्, क्यित, विहायस, नाक, द्युस्।
  31. आम – आम्र, रसाल, सहकार, अमृतफल, अम्बु, सौरभ, मादक।
  32. एकान्त – सूना, निर्जन, जनशून्य।
  33. आदि – प्रथम, आरम्भिक, पहला, अथ।
  34. अहंकार – दर्प, दम्भ, अभिमान, घमण्ड, गर्व, मद।
  35. अतिथि – मेहमान, पाहुना, आगंतुक, अभ्यागत, बटाऊ।
  36. आनन्द – आमोद, प्रमोद, प्रसन्नता, हर्ष, उल्लास, आह्लाद, मोद, मुद, खुशी, मजा, सुख, चैन, विहार।
  37. आज्ञा – आदेश, निदेश, हुक्म।
  38. आयु – उम्र, वय, अवस्था, जीवनकाल।
  39. आचरण – व्यवहार, चाल–चलन, बरताव।
  40. कस्तूरी – मृगनाभि, मृगमद, मदलता।
  41. आयुष्मान – चिरायु, दीर्घायु, चिरंजीव।
  42. अंधकार – तम, तिमिर, अँधेरा, अँधियारा, ध्वांत, तमिस्र, तमस।
  43. अंधा – नेत्रहीन, चक्षुहीन, विवेकशून्य, दृष्टिहीन।
  44. ईश्वर – परमात्मा, प्रभु, ईश, जगदीश, भगवान, परमेश्वर, जगदीश्वर, विधाता, दीनबन्धु, जगन्नाथ, हरि, राम, विश्वम्भर।
  45. ईर्ष्या – जलन, डाह, द्वेष, खार, रश्क, कुढ़न।
  46. ईनाम – उपहार, पुरस्कार, पारितोषिक, बख्शीश।
  47. आदर्श – मानक, प्रतिमान, नमूना, प्रतिरूप।
  48. ऊँट — उष्ट्र, क्रमलेक, मरुयान, लम्बोष्ठ, महाग्रीव।
  49. आपत्ति – आपदा, संकट, मुसीबत, विपत्ति।
  50. ईमानदारी – सदाशयता, निष्कपटता, दयानतदारी।
  51. उपवन – बाग, बगीचा, उद्यान, वाटिका, फुलवारी, गुलशन।
  52. उत्तम – श्रेष्ठ, उत्कृष्ट, प्रवर, प्रकृष्ट, बेहतरीन, अच्छा।
  53. उत्थान – उत्कर्ष, आरोह, चढ़ाव, उत्क्रमण, उन्नति, प्रगति, उन्नयन।
  54. उदाहरण – दृष्टांत, मिसाल, नजीर, नमूना।
  55. उपकार – भलाई, नेकी, हितसाधन, कल्याण, मदद, परोपकार।
  56. उत्सव – समारोह, पर्व, त्यौहार, जलसा, जश्न।
  57. उदय – प्रकट होना, आरोहण, चढ़ना।
  58. इन्द्र – महेन्द्र, देवराज, देवेश, सुरपति, शचिपति, वासव, पुरन्दर, सुरेन्द्र, सुरेश, देवेन्द्र, मघवा, शक्र, पुरहूत, देवपति, उर्वशीनाथ, सुनासीर, वज्री, वृत्रहा, नाकपति, सलस्राक्ष।
  59. इच्छा – अभिलाषा, आकांक्षा, कामना, चाह, ईप्सा, मनोरथ, ईहा, स्पृहा, उत्कंठा, लालसा, वांछा, लिप्सा, काम, चाव।
  60. उद्यम – कार्य, व्यापार, कर्म, क्रिया, साहस, उद्योग, परिश्रम, व्यवसाय, धंधा।
  61. उपमा – तुलना, मिलान, सादृश्य, समानता।
  62. उदर – पेट, कुक्ष, जठर।
  63. अक्षर – हरफ, ब्रह्म, अ आदि वर्ण, अविनाशी।
  64. अनाज – शस्य, अन्न, धान्य, खाद्यान्न गल्ला।
  65. अपमान – अनादर, बेइज्जती, अवमानना, निरादर, तिरस्कार।
  66. ऐश्वर्य – वैभव, सम्पन्नता, समृद्धि, प्रभुत्व, ठाठ–बाट।
  67. कबूतर – पारावत,कपोत, हारीत, परेवा, रक्तलोचन।
  68. कर्ण – कौन्तेय, अंगराज, सूतपुत्र, सूर्यपुत्र, राधेय।
  69. ओझल – तिरोभूत, गायब, लुप्त, अदृश्य, अंतर्धान।
  70. ओस – तुषार, हिमकण, शबनम, हिमबिँदु।
  71. ओष्ठ – होठ, ओँठ, अधर, रदच्छद, लब, किनारा।
  72. कमल -अम्भोज, सहस्रदल, पुष्कर, कुवलय, पङ्करुह, सरसीरुह, कोकनद, नलिन, अरविन्द, उत्पल, राजीव, पद्म, पंकज, नीरज, सरोज, जलज, जलजात, वारिज, शतदल, अम्बुज, पुण्डरिक, ताम्ररस, कंज, वनज,।
  73. कल्पवृक्ष – देवदारु, सुरतरु, मन्दार, पारिजात, कल्पद्रुम, देववृक्ष, सुरद्रुम, कल्पतरु।
  74. उपहास – मखौल, हास, प्रहसन्न, मजाक, खिल्ली, परिहास, हँसी, लास
  75. अध्यापक – शिक्षक, प्रवक्ता, उपाध्याय, गुरु, आचार्य।
  76. अनाथ – दीन, निराश्रित, यतीम, नाथहीन, बेसहारा।
  77. करुणा – कृपा, मेहरबानी, दया, प्रसाद, अनुग्रह, अनुकंपा।
  78. अर्जुन – गाण्डीवधारी, पार्थ, धनंजय, सव्यसाची।
  79. अजेय – अदम्य, अपराजेय, अपराजित, अजित।
  80. अनुचर – भृत्य, किँकर, दास, परिचारक, सेवक।
  81. अमृत – सोम, सुरभोग, जीवनोदक, अमी, मधु, सुधा, पीयूष, अमिय, दिव्य पदार्थ।
  82. असुर – राक्षस, निशाचर, दैत्य, दानव, रजनीचर, दनुज, रात्रिचर, जातुधान, तमीचर, मायावी, सुरारि, निश्चिर, मनुजाद।
  83. राह  – पथ, पंथ, रीति, मत, संप्रदाय, मार्ग,।
  84. अभिप्राय – आशय, तात्पर्य, मतलब, अर्थ, मंशा, व्याख्या, भाष्य, टीकापिप्पणी।
  85. अरण्य – वन, कान्तार, दावा, गहन, बीहड़, विटप, जंगल, अटवी, विपिन, कानन।
  86. अनार – शुकप्रिय, रामबीज, दाड़िम।
  87. आँधी – बवंडर, तूफान, चक्रवात, झंझावत।
  88. अन्य – पृथक, और, दूसरा, अलग, पर, भिन्न।
  89. अग्नि – आग, अनल, सर्वभक्षी, जातवेद, हुताशन, हव्यवान, ज्वलन, शिखा, वैसन्दर, वृहदभानु, वायुसख, चित्रभानु, विभावस्, शुचि, पावक, वह्नि, ज्वाला, कृशानु, वैश्वानर, धनंजय, दहन, अप्पिन्त।
  90. अनुपम – अद्भुत, अनन्य, अद्वितीय, बेजोड़, बेमिसाल, अनूठा, निराला, अभूतपूर्व, विलक्षण, अनूप, अपूर्व, अतुल, अनोखा।
  91. अधिकार – आधिपत्य, हक, स्वामित्व, स्वत्व, कब्जा।
  92. अनुमान – अटकल, अंदाज, तखमीना, कयास।
  93. अशुद्ध – गंदा, गलत, दूषित, अपवित्र, मलिन।
  94. अकाल – सूखा, दुर्भिक्ष, भुखमरी, कमी।
  95. अचल – स्थिर, दृढ़,अटल, अडिग, अविचल।
  96. अभिजात – संभ्रान्त, कुलीन, श्रेष्ठ, योग्य।
  97. कान – श्रोत, श्रुतिपुट, कर्ण, श्रवण, श्रवणेन्द्रिय,।
  98. कान्ति – प्रभा, चमक, आभा, सुषमा, द्युति।
  99. किरण – मरीचि, मयूख, अंशु, दीधिति, रश्मि, कर, वसु, ज्योति, दीप्ति।
  100. किताब – पुस्तक, गुटका, पोथी, ग्रन्थ,।
  101. आँगन – अजिर, अंगना, प्रांगण, बाखर, बगर, बाड़ा।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment