5G क्या है और यह इंडिया में कब आएगा?


भारत में 5G कॉल का सफल परीक्षण हो चूका है। यह परीक्षण केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी और संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने IIT मद्रास में किया। उन्होंने वाइस कॉल के साथ विडिओ कॉल भी की। तो आज हम जानेंगे की 5G क्या है और यह इंडिया में कब आएगा?

5G क्या है ?

5G में उपभोक्ताओं को ज़्यादा स्पीड, कम लेटेंसी और ज़्यादा फ्लेक्सिबिलिटी देखने को मिलेगी। यह 5G नेटवर्क क्लाउड से क्लाइंट को डाइरेक्ट कनेक्ट करेगा। इस नेटवर्क में एक ख़ास बात है की यह एक नए प्रोसेस से एक सिंगल डिजिटल सिग्नल को अलग-अलग चैनल पर रेगुलेट करेगा। इस रेगुलेट करने की प्रोसेस को OFDM कहा जाता है। यह नया प्रोसेस यह सुनिश्चित करता है की नेटवर्क में कम से कम इंटरफेरेंस है या नहीं।

5G एक नए इंटरफेस का उपयोग करेगा जिसे 5GNR कहा जाता है। यह नेटवर्क ज़्यादा बैंडविथ वाले नेटवर्क को उपयोग में लेगा जिसमे mmWave और sub-6 GHz शामिल है। सभी तरह के स्पेक्ट्रम का उपयोग करके 5G नेटवर्क 20 GBPS तक की स्पीड देगा जोकि 4G के मुकाबले बहुत ज़्यादा है।

5G नेटवर्क इसके पुराने वर्जन 4G के मुकाबले ज्यादा ट्रैफिक देगा। इस नेटवर्क में लॉ बैंड, मिड बैंड और हाई बैंड तीनो शामिल है जिस कारण यह हाई स्पीड के साथ हाई कवरेज भी देगा।

यह इंडिया में कब आएगा ?

5G की उपलब्धता पर एक नई रिपोर्ट बनाई गई है। इस रिपोर्ट के अनुसार भारत में 5G को 75वे स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लांच किया जा सकता है। इसका तात्पर्य यह है की 5G को 15 अगस्त 2022 को कमर्शियल तौर पर लांच करने की संभावना है।

5G से जुड़ी जानकारियां हाल ही में केवल द हिन्दू बिजनेस लाइन को मिली है। उन्हें मिली जानकारी के अनुसार आने वाले स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री इसे ऑफिशली लांच क्र सकते है। 5G को बनाने में भारतीय टेक्नोलॉजी का काफी ज़्यादा उपयोग किया जाएगा।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment