भारत में सर्वप्रथम राष्ट्रीय आय का अनुमान किसने लगाया था?


आज के लेख में हम आपको बताएँगे कि भारत में सर्वप्रथम राष्ट्रीय आय का अनुमान किसने लगाया था?

भारत में सर्वप्रथम राष्ट्रीय आय का अनुमान किसने लगाया था?

सबसे पहले हम यह जान लेते है कि राष्ट्रीय आय किसे कहते हैं। राष्ट्रीय आय किसी राष्ट्र के वित्तीय वर्ष में उत्पाद की गई वस्तुओं और सेवाओं के कुल मोद्रिक मूल्य को कहा जाता है। इसके द्वारा अर्थव्यवस्था में परिवर्तन होता है। एक विकसित देश की उच्च राष्ट्रीय आय होती है जो यह दर्शाती है कि देश की अर्थव्यवस्था बहुत अच्छी है।

भारत में सर्वप्रथम राष्ट्रीय आय का अनुमान दादाभाई नौरोजी ने लगाया था। दादाभाई नौरोजी का जन्म 4 सितम्बर 1825 को हुआ था। यह पारसी बुद्धिजीवी, शिक्षाशास्त्री, कपास के व्यापारी तथा सामाजिक नेता थे। और साथ ही यह एक अर्थशास्त्री भी थे। इन्हें भारत का ‘भारत का वयोवृद्ध पुरुष’ भी कहा जाता है। इन्होने एलफिंस्टन इंस्टीटयूट में शिक्षा प्राप्त की थी,

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment