राजनीति विज्ञान के जनक कौन है? (Political Science Ke Janak)


राजनीति शास्त्र यानिकी राजनीति विज्ञान बहुत ही प्राचीन विषय है। प्रारंभ में इसे स्वतंत्र विषय के रूप में नहीं स्वीकारा गया। राजनीति विज्ञान के अंतर्गत नीतिशास्त्र, दर्शनशास्त्र, इतिहास, एवं विधिशास्त्र आदि की अवधारणाऐ शमिल है इन्ही के अंतर्गत इसका अध्यन किया जाता है। राजनीति विज्ञान का इस्तेमाल राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय दोनों प्रकार की राजनीति को समझने के लिये किया जाता है। राजनीति विज्ञान में राज्य सरकार, सरकारी संस्थाओं, चुनाव प्रणाली व राजनीतिक व्यवहार का अध्ययन किया जाता है। क्या आप जानते है कि राजनीति विज्ञान के जनक कौन है? (Political Science Ke Janak)

राजनीति विज्ञान के जनक कौन है? (Political Science Ke Janak)

राजनीति विज्ञान के जनक अरस्तु है जिनका जन्म 384 ईपू हुआ था तथा ६२ वर्ष की उम्र में इनका निधन हो गया था। इनका जन्म स्थान स्तागिरा (स्तागिरस) नामक नगर था। इन्होने भौतिकी, आध्यात्म, कविता, नाटक, संगीत, तर्कशास्त्र, राजनीति शास्त्र, नीतिशास्त्र, जीव विज्ञान आदि कई विषयों पर रचना की है। अरस्तु की बचपन से ही विज्ञान और खोज ने रूचि थी।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment