40+ दिल को छू जाने वाली शायरी


जो हमारे दिल के करीब होते हैं वो लोग बड़े ख़ास होते हैं हम उन्हें कभी खोना नही चाहते और अपने दिल की हर बात उन्हें बताते हैं और उनसे बहुत प्यार करते है इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम आपके लिए लाये हैं दिल को छू जाने वाली शायरियाँ जिन्हें आप अपने दोस्त, साथी या परिवारजानो को Whatsapp, Facebook, Instagram आदि पर भेज सकते हैं। इस लेख में आपको बहुत सी 2 लाइन दिल को छू जाने वाली शायरी मिल जाएगी।

2 लाइन दिल को छू जाने वाली शायरी

टूटे हुए काँच की तरह चकनाचूर हो गए,
किसी को लग ना जाये इसलिए सबसे दूर हो गए।

love shayari

मंजिल भी तुम हो तलाश भी तुम हो,उम्मीद भी तुम हो आस भी तुम हो,
इश्क भी तुम हो और जूनूँ भी तुम ही हो,अहसास तुम हो प्यास भी तुम ही हो।

मोहब्बत की ये सारी रस्मों को तोड दूं
तू दिल मे रख ले तो मैं ये जमाना छोड दूं..

अब कोई हसरत ना रही #किसी से वफा़ पाने की,
दिल इस कद्र टूट गया जररत ना रही #दर्द बताने की..!!

अच्छा करने के लिए अपने दिल को लगाओ,
इसे बार बार करो और फिर तुम #आनंद से भर जाओगे

जब जब तुम होगे तनहा, मैं साथ रहूँगी…
न रहूँ जहाँ मे फिर भी बन के अहसास रहूँगी

फूल बनकर मुस्कुराना जिंदगी है, मुस्कुरा कर गम भुलाना जिंदगी है,
मिलकर लोग खुश होते है तो क्या हुआ, बिना मिले दोस्ती निभाना भी जिन्दगी है!!

sad shayari

ढूंढ तो लेते अपने प्यार को हम, शहर में भीड़ इतनी भी न थी.
पर रोक दी तलाश हमने, क्योंकि वो खोये नहीं थे, बदल गये थे।

तेरी एक झलक के लिए तरस जाता हूँ,
खुश किस्मत है वो लोग जो तुझे रोज देखते है।

एक दर्द के हसरतों का मेला हैं मेरे सीने मे,
फिर भी तमन्ना रखता हूँ वफा़ से जीने मे..!!

क्या “अजीब” खेल रहा है इस #मोहब्बत का भी,
किसी को हम न मिले और कोई हमें न मिला।

यह आरजू नहीं कि किसी को भुलाएं हम; न तमन्ना है कि किसी को रुलाएं हम;
जिसको जितना याद करते हैं; उसे भी उतना याद आयें हम।

मेरे कदम से कदम मिला लो ना तुम एक बार मुझे अपना बना लो ना तुम
बहुत सहन शक्ति है मेरे अंदर कठोर हूं चाहे तो दर्द दे कर आजमा लो ना तुम।

alone shayari

खुशी मेरी काँच के जैसी थी ऐ दोस्तों,
ना जाने कितनों को चुभ गयी

तू तो हँस हँसकर जी रही है, जुदा होकर भी….कैसे जी पाया होगा वो,
जिसने तेरे सिवा जिन्दगी कभी सोची ही नहीं।

कहने को तो बहुत कुछ बाकी है।
पर तेरे लिए मेरी खामोशी ही काफी है।

आप तो डर गये मेरे एक ही कसम से ,
आपकी कसम देकर हमें तो हजारों ने लूटा।

उन्होंने मेरे दिल को आजमा कर देख लिया,एक धोखा हमनें भी खाकर देख लिया
क्या हुआ अगर हमारा दिल टूट भी गया,उन्होंने तो अपना दिल बहला कर देख लिया

जरुरी होते हम भी किसी के लिए।काश…
कोई हमें भी खोने से डरता।

तेरे शहर के कारीगर , बड़े अजीब है ऐ दिल 
काच की मरम्मत करते है , पत्थरों के औजारों से। 

गहराईयां चाहिए इश्क़ मे मगर डुब जाने का डर हैं,
मोहब्बत दिल से ही करेंगे मगर टूट जाने का डर हैं..!!

जो मिल गया उसे #तक़दीर का लिखा कहिये
जो खो गया उसे #क़िस्मत का फ़ैसला कहिये.!!

हमे कहां मालुम था इश्क होता क्या है
बस एक तुम मिलें और जिन्दगी मुहब्बत बन गई।

sad love shayari

वो एक खत जो तूने लिखा ही नहीं,
मैं हर रोज बैठ के उसका जवाब लिखता हूँ।

गिर गई वो तमन्नाओं की मंजिल,जो तेरे ख्वाबों मे हमनें बनायी थी
हो गये टुकड़े टुकड़े हजारों उसके,जो तेरी तस्वीर हमनें दिल मे बसायी थी 

हमे कहां मालुम था इश्क होता क्या है
बस एक तुम मिलें और जिन्दगी मुहब्बत बन गई

लो तुमने भी ये आग़ाज़ कर दिया,धड़कन को दिल का साज़ कर दिया
देकर मेरी ग़ज़ल को अपनी आवाज़,खंडहर सी इमारत को ताज कर दिया.

पास खडे़ थे मगर बहुत दूर बता दिया,,ख्वाबों मे नही थे मगर दिल मे बता दिया,
खाई थी जो मोहब्बत की राहों मे कसमें,,वो सच नही थी सिर्फ़ मजाक बता दिया..!!

तरस_गए हैं हम थोड़ी सी “वफा” के लिए,
अब ये ‘उम्र’ भी कम पड़ने लगी है “इश्क़” में सजा के लिए।

काश कोई करता प्यार हमसे इतना,,की मारने के बाद भी ख्वाबो में आया करते,
जब गिरते आँखों से हमारे आंसू ,,तो वो भी साथ में रोया करते

आकर देख लेना मेरे मकां मे कभी,,टूटे हुए शराबी पैमाने नजर आऐगें,
टूटे हुए काँच के टुकड़ों मे भी,बेवफा तेरे चहरे नजर आएगें..!!

हर साँस में तेरी याद होती है,मेरी आँखों को तेरी तलाश होती है
कितनी खुबसूरत चीज है ये मोहब्बत,कि दिल धडकने में भी तेरी आवाज होती है.

बहुत दिनों से कोई हिचकी नहीं आयी।
भूलने वाले तेरी तबीयत तो ठीक है, ना।

टूटे हुए काँच की तरह,चकनाचूर हो गए
किसी को लग ना जाये,इसलिए सबसे दूर हो गए 

उसने हौसला ही नहीं दिखाया ,मोहब्बत निभाने का 
और हम आज तक ,नसीब को दोष देते रहे

चलो यूँ ही सही हम_बेवफ़ा हैं,
मगर ये #तो बताएँ आप क्या हैं.

वो बिल्कुल ठीक है, अपनी जगह।
बस हम ही जरुरत से ज्यादा, उम्मीद कर बैठे थे, उनसे।

आप तो डर गये मेरे एक ही कसम से
आपकी कसम देकर हमें तो हजारों ने लूटा

ये कह कर मेरा दुश्मन ,मुझे हस्ते छोड़ गया 
तेरे अपने ही बोहोत है ,तुझे रुलाने के लिए। 

नफ़रत की एक बात, बड़ी अच्छी होती हैं कि
यह मोहब्बत की तरह, कभी झूठी नहीं होती

चलो यूँ ही सही हम बेवफ़ा हैं,
मगर ये तो बताएँ आप क्या हैं.

ढूंढ तो लेते अपने प्यार को हम, ;शहर में भीड़ इतनी भी न थी..;
पर रोक दी तलाश हमने, ;क्योंकि वो खोये नहीं थे, बदल गये थे।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment