चालक की प्रतिरोधकता क्या है ? इसका si मात्रक लिखें।


आज का प्रश्न है कि चालक की प्रतिरोधकता क्या है ? इसका si मात्रक लिखें। यह भोतिक विज्ञान का एक महत्वपूर्ण प्रश्न है। आइये जानते है इसका उत्तर।

चालक की प्रतिरोधकता क्या है ? इसका si मात्रक लिखें।

किसी विलयन में दो इलेक्ट्रोड लगाए जाए फिर विद्युत धारा प्रवाहित की जाए तब प्रवाहित करने पर प्रतिरोध, धात्विक चालकों के लंबाई के समान एवं बीच की दूरी के समानुपाती तथा अनुप्रस्थ काट के क्षेत्रफल के व्युत्क्रमानुपाती होता है। इसकी SI ईकाई ओम मीटर [Ω m] है।

यदि चालक के सिरों के बीच का विभवांतर V हो तथा उसमें प्रवाहित धारा I हो, तो ओम के नियमानुसार v ∝ I या V =I R जहाँ R एक नियतांक है, जिसे चालक प्रतिरोध कहा जाता है। किसी चालक का वह गुण जो उसमें प्रवाहित धारा का विरोध करता है उसे प्रतिरोध कहते हैं।

यदि किसी चालक की भौतिक अवस्था जैसे ताप ,दाब इत्यादि में कोई बदलाव ना हो तो चालक के सिरों पर लगाया गया विभवान्तर और उस में बहने वाली धारा का अनुपात नियत रहता है इसे ही ओम का नियम कहते हैं।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment