गधे को संस्कृत में क्या कहते हैं?


गधा एक पालतू जानवर है जो सामान ढोने के लिए उपयोग किया जाता है क्योकि यह बिलकुल भी हिंसक नही होता है और पथरीली जगह पर भी आसानी से चल सकता है। यह शाकाहारी जानवर है जो घास आदि खा कर जीवित रहता है, अधिकतर गधो को मिट्टी ले जाते हुए देखा गया हैं क्योकि कुम्हार इन्हें मिट्टी लाने ले जाने में ज्यादा उपयोग करते हैं। पहले के समय में धोबी कपड़ो को घाट पर ले जाने के लिए भी गधो का उपयोग करते थें पर जैसे जैसे वाहनों का प्रयोग बड़ रहा है गधे का उपयोग कम होता जा रहा है और यह विलुप होने की कगार पर भी आ सकते हैं। यह घोड़े की तरह दिखने वाला उसकी ही प्रजाति का जानवर है पर यह आकार में घोड़े से छोटा होता है। आगे आप जानेंगे कि गधे को संस्कृत में क्या कहते हैं?

गधे को संस्कृत में क्या कहते हैं?

गर्दभ: रासभ:‚ खरः गधे के संस्कृत नाम है। यह जानवर अपनी मुर्खता के लिए विश्व में प्रसिद्ध है पर यह एक मेंहनती जानवर भी है जो बहुत मेहनत करता है तथा अपने मालिक के प्रति वफादार रहता है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment