केंचुए को किसानों का मित्र क्यों कहा जाता है?


आप ने अधिकतर सुना होगा की केंचुए को किसानों का मित्र कहा जाता है, पर क्या आप जानते हैं कि केंचुए को किसानों का मित्र क्यों कहा जाता है?

अगर नही तो इस लेख में आपको इस प्रश्न का उत्तर मिल जाएगा की केंचुए को किसानों का दोस्त आखिर क्यों कहा जाता है।

केंचुए को किसानों का मित्र क्यों कहा जाता है?

केंचुए मिट्टी पर रेंगते हुए देखे जा सकते हैं, यह कई खंडो से मिल कर बना एक कृमि है जो लंबा, वर्तुलाकार, ताम्रवर्ण होता है। आज हम इस विषय पर बात कर रहे हैं कि केंचुए में ऐसा क्या जो उसे किसानो का मित्र कहा जाता है तो आपको बतादे कि केंचुए किसान को खेती के उपयोग की जा रही मिट्टी को खाता है जिससे की किसान को फायदा होता है क्योकि इससे जेविक खाद का निर्माण होता है साथ ही यह मिट्टी को खोदतें हैं और उसमें हवा का संचार होता हैं, केंचुए उपजाऊ मिट्टी को ऊपर और ऊपरी प्रयुक्त मिट्टी को निचले स्तर तक लाने में मदद करते हैं, मिट्टी नरम करते है और नर्म होने के कारण लंबे समय तक पानी को गहराई से संग्रहित किया जा सकता है जिससे मिट्टी उपजाऊ होती है।

इसीलिए केंचुए को एक स्वस्थ मिट्टी का एक अच्छा संकेतक माना जाता है यह किसानो की इसी प्रकार मदद करता है जिस कारण केंचुए को किसानो का मित्र कहा जाता आ रहा है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment