कितने समय बाद दोबारा रक्तदान किया जा सकता है?


रक्तदान करना पुण्य का काम है किसी भी जरूरतमंद जिसे रक्त की जरूरत है उसे रक्तदान करने से उसकी जान बच सकती है इसीलिए रक्तदान को एक महान काम बताया गया है। रक्तदान करने के कई फायदे भी होते हैं जिन्हें आगे इस लेख में हम जानेंगे और साथ ही यह भी जानेंगे कि कितने समय बाद दोबारा रक्तदान किया जा सकता है?

कितने समय बाद दोबारा रक्तदान किया जा सकता है?

रक्तदान करने के बाद कम से कम 3 महीने बाद ही दोबारा रक्तदान करना चाहिए। रक्तदान से शरीर में किसी भी प्रकार की कमजोरी नही आती है बल्कि रक्तदान करने के 24 घंटे बाद ही पुनः उतना ही ब्लड शरीर में बन जाता है जितना डोनेट किया गया है परन्तु फिर भी 3 महीने बाद ही दोबारा रक्तदान करना चाहिए। ब्लड डोनेट करने की कुछ शर्तें होती है जैसे रक्तदान करने वाला स्वस्थ होना चाहिए, उसकी उम्र 18 से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए। उसे किसी प्रकार की बीमारी नही होनी चाहिए, रक्तदाता का वजन 45 किलो से अधिक होना चाहिए। रक्तदान करने के यह फायदे होते हैं कि स्ट्रोक के खतरे को कम करता है, रेड ब्लड सेल्स (RBC) को बनाने में लग जाती हैं, शरीर में आयरन की अधिकता नहीं होती, खून की जांच से हीमोग्लोबिन लेवल का पता लगाने के साथ ही दूसरी बीमारियों का पता चल जाता है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment