मेड कॉउ महामारी से सर्वाधिक प्रभावित देश कौन सा था?


इस लेख में आप जानेंगे कि मेड कॉउ महामारी (Mad Cow Disease) क्या है? और मेड कॉउ महामारी से सर्वाधिक प्रभावित देश कौन सा था?

मेड कॉउ महामारी (Mad Cow Disease) क्या है?

गावों में मेड कॉउ महामारी का पहला मामला 1970 में सामने आया था तथा इंसानो में यह बीमारी सन 1986 में देखी गयी थी जो गोमांस खाने की वजह से इंसानों में फेली थी। इस बीमारी में इंसान अपने शरीर के अंगो पर नियंत्रण खो देता है तथा उसे भ्रान्तिया होने लगती है क्योकि यह बीमारी दिमाग से सम्बन्धित है। यह बीमारी 1986 से 2001 के बिच लगभग 180,000 मवेशियों की जान ले चुकी थी और इंसानों के लिए जान का खतरा बन गयी थी। यह मवेशियों का एक प्रगतिशील न्यूरोलॉजिकल विकार है जो एक असामान्य ट्रांसमिसिबल एजेंट के द्वारा संक्रमण के परिणामस्वरूप होता है जिसे प्रियन कहा जाता है । इस बीमारी को Bovine Spongiform Encephalopathy (BSE) भी कहा जाता है। इस बीमारी इंसान धीरे धीरे बीमार होता जिस कारण जब तक यह बीमारी गंभीर रूप नही ले ले ती है जब तक इसका पता नही लग पाता है और इन्सान की मृत्यु तक हो जाती है।

मेड कॉउ महामारी से सर्वाधिक प्रभावित देश कौन सा था?

मेड कॉउ महामारी से सर्वाधिक प्रभावित देश UK (यूनाइटेड किंगडम) था, यह एक जानलेवा बीमारी है जो दिमाग को प्रभावित करती है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment