मुगलकालीन चित्रकला किसके काल में चरमोत्कर्ष पर पहुंची?


इस लेख में आप जानेगे कि मुगलकालीन चित्रकला किसके काल में चरमोत्कर्ष पर पहुंची थी?

मुगलकालीन चित्रकला किसके काल में चरमोत्कर्ष पर पहुंची?

मुगलकालीन चित्रकला का प्रारम्भ 6वीं और 18वीं शताब्दी के बीच माना जाता है। सबसे ज्यादा मुगल चित्रकला का विकास सम्राट अकबर, जहाँगीर और शाहजहाँ के शासनकाल में हुआ परन्तु मुगलकालीन चित्रकला जहाँगीर काल में चरमोत्कर्ष पर पहुंची थी। मुगल चित्रकला का विकास दो फारसी महान कलाकारों अब्दुल समद और मीर सैयद की उपस्थिति में हुआ था, मुगल चित्रकलाओ में लड़ाई, पौराणिक कहानियों, शिफा के दृश्य वन्यजीव, शाही जीवन देखने को मिलता है। जानकारी के लिए बतादे कि अकबर के समय में पहली बार भित्ति चित्रकारी की शुरुआत हुई थी। तथा अकबर के काल में बसावन नाम का चित्रकार सबसे श्रेष्ठ चित्रकार माना जाता था। तथा जहाँगीर के काल में प्रमुख चित्रकारों के नाम ‘फारुख बेग’, ‘दौलत’, ‘मनोहर’, ‘बिसनदास’, ‘मंसूर’ एवं अबुल हसन थे। शाहजहाँ का एक प्रसिद्ध चित्र भारतीय संग्रहालय में मोजूद है, जिस चित्र में शाहजहाँ को सूफी नृत्य करते हुए दिखाया गया है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment