सुबह का सपना सच होता है या नहीं?


सोते वक़्त सपने आना बहुत ही आम बात है। यह कहा जाता है कि व्यक्ति जो दिनभर सोचता है वही उसे सपने में दिखाई देता है। इनमे से कई सपने ऐसे होते हैं जो व्यक्ति को परेशन कर देते हैं। कुछ सपने ऐसे भी होते हैं जो व्यक्ति देखकर बहुत सुकून पाता है। यह एक स्वभाविक प्रक्रिया है। इनमे से कुछ सपने ऐसे होते हैं जो उसके पूर्ण होने का समय देते हैं। आइये आपको बताते हैं की सुबह का सपना सच होता है या नहीं?

सुबह का सपना सच होता है या नहीं?

सुबह 3 से 5 के बीच देखा गया सपना सच होता है। यह इसलिए कहा जाता है क्योंकि इस वक्त को अमृत बेला, चंद्र बेला और ब्रह्म मुहूर्त के नाम से जाना जाता है। इस वक्त में दैविय शक्तियों का भू-मंडल पर स्थित जीव-निर्जीव वस्तुओं पर प्रभाव रहता है। इस समय देखे गए सपने का फल 6 महीने के अंदर दिखाई देता है। इस समय में आए हुए सपने शुभ और अशुभ का संकेत देते हैं। इस समय में बुरे सपने आने पर आपको शिवालय जाना चाहिए। शिवालय जा कर दूध चढ़ाने पर आपका सपना कभी पूर्ण नहीं होगा।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment