रासायनिक समीकरण को संतुलित करना क्यों आवश्यक है?


रसायन शास्त्र से जुड़े हुए बहुत से सवाल परीक्षा में पूछे जाते है उन्ही मेसे एक है रासायनिक समीकरण की संतुलित कैसे करे? हम आपको इस पोस्ट है इस प्रश्न का उत्तर देने वाले है कि रासायनिक समीकरण को संतुलित करना क्यों आवश्यक है?

रासायनिक समीकरण को संतुलित करना क्यों आवश्यक है?

रासायनिक समीकरण को सन्तुलित करना इसलिए आवश्यक है, क्योंकि किसी भी प्रकार की रासायनिक अभिक्रिया में द्रव्यमान बनता है ना ही समाप्त होता है। यानिकी उत्पाद तत्वों का कुल द्रव्यमान अभिकारक तत्वों का कुल द्रव्यमान के बराबर होता है, अतः रासायनिक समीकरण में द्रव्यमान के संरक्षण के नियम का पूर्णरूप से पालन होता है। आसान भाषा में रासायनिक समीकरण को समझा जाए तो वह रासायनिक समीकरण जिसमे दोनों पक्षों ( अभिकारकों तथा उत्पादों ) में प्रत्येक तत्व के परमाणुओं की संख्या एक समान होती है तो वह संतुलित रासायनिक समीकरण कहलाती है। रासायनिक समीकरण के किसी भी रासायनिक अभिक्रिया का समीकरण के रूप में निरूपण आसान होता है औररासायनिक समीकरण में समय की काफी बचत होती है व लिखने के लिए कम जगह की जरूरत होती है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment