एलोवेरा की तासीर गर्म होती है या ठंडी?


एलोवेरा की जितना त्वचा पर लगाने में उपयोग किया जाया है उतना ही इसका उपयोग जूस के रूप में भी किया जाता है। एलोवेरा में विटामिन ए, सी, ई, कोलीन, बी1, बी2, बी3 और बी6, कैल्शियम, मैग्नीशियम, जिंक, क्रोमियम, सेलेनियम, सोडियम, आयरन, पोटैशियम, कॉपर और पाया जाता है। एलोवारा के सेवन के बहुत से फायदे है, एलोवेरा एनीमिया की समस्या दूर करता है, भूख बढाता है, जोड़ो के दर्द को कम करता है, पेट की खराबी को दूर करता है। EVOVEAA के सूप का ज्यादा सेवन शरीर को नुकसान पहुचा सकता है साथ ही कुछ लोगो में एलोवेरा से एलर्जी की समस्या देखी गयी है। ऐसे लोगो को एलोवेरा के सेवन से बचना चाहिए। एलोवेरा को त्वचा पर लगाने से त्वचा निखरती है साथ ही हम सुंदर भी दिखते है। एलोवेरा का अधिकतर उपयोग त्वचा को स्वस्थ रखने, डार्क सर्किल हटाने, मुहासे दाग को हटाने में किया जाता है। आगे हम जानेंगे कि एलोवेरा की तासीर गर्म होती है या ठंडी?

एलोवेरा की तासीर गर्म होती है या ठंडी?

एलोवेरा की तासीर गर्म होती है इसीलिए यह बहुत से लोगो के लिए अनुकूल नही होता है। गर्मी समय इसका उपयोग सेहत पर हानिकारक प्रभाव डाल सकता है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment