अप्रिय ध्वनि को क्या कहते हैं?


इस आर्टिकल में आप जानेगे कि अप्रिय ध्वनि को क्या कहते हैं?

अप्रिय ध्वनि को क्या कहते हैं?

अप्रिय ध्वनि को शोर कहते हैं, जो किसी भी प्रकार के वाहन, फटाको, मशीन, कारखानों, पंखे, लाउडस्पीकर, रेडियो, टेलीविजन आदि से आ सकती है। तेज ध्वनी कानों के लिए हानिकारक होती है यह कानों को नुकसान पहुचाती है। अनावश्यक और उच्च ध्वनी को ध्वनी प्रदुषण कहते हैं। ध्वनी प्रदुषण मुख्य रूप से मशीनों, वाहन, औद्योगिक क्षेत्र और लाउडस्पीकर से होता है। जो ध्वनी हमे पसंद नही होती है वो हमे हानि पहुचाती है। ध्वनि प्रदूषण से मानव शरीर पर कई नकारात्मक असर पड़ते है जैसे उच्च रक्त चाप, नींद में गडबडी, कानो को क्षमता में कमी, चिड़चिड़ापन आदि। इसीलिए हमें ध्वनी प्रदूषण नही करना चाहिए तथा करने वाले को भी रोकना चाहिए। ध्वनी प्रदूषण पशु पक्षियों पर भी बुरा असर डालते हैं। कभी कभी तेज ध्वनी मनोरंजन और नृत्य के लिए उपयोग की जाती है पर इसका असर भी हमारे कानो और बुजुर्गो तथा बच्चो पर होता है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment