Gala Sukhne Ka Karan – गला सुखने का कारण क्या होता है?


जब हमारे शरीर में पानी की कमी होने लगती है तब हमारा गला सूखने लगता है। गर्मी के समय हमारा गला ज्यादा सूखता है क्योकि गर्मी के कारण हमें अत्यधिक पसीना आता है और पानी हमारे शरीर से निकलता रहता है। पानी की शरीर में पूर्ति के लिए हमें बार बार प्यास लगती है। गला सुखना एक सामान्य प्रक्रिया है जो हर किसी के साथ होती है पर यदि यह सामान्य से अधिक हो तो यह किसी बीमारी का संकेत भी हो सकता है। इस पोस्ट में आज हम जानेंगे की Gala Sukhne Ka Karan गला सुखने का कारण क्या होता है और ज्यादा गला सुखना किन बीमारियों की तरफ इशारा करता है।

Gala Sukhne Ka Karan गला सुखने का कारण

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए उसे भरपूर मात्रा में पोषक तत्वों के साथ साथ पानी भी आवश्यकता होती है। अगर आप का गला सुख रहा है तो इसका मतलब है की आपको पानी पिने की जरूरत है आपके शरीर में पानी का स्तर सामान्य से कम हो चूका है। गला सूखने का कारण केवल यही होता है की आपके शरीर को पानी आवश्यकता है पर यदि सामान्य इंसान के मुकाबले आपका गला ज्यादा सुख रहा है तो यह किसी बीमारी का संकेत भी हो सकता है।

इन बीमारियों के कारण भी बार-बार सूखता है गला

डायबिटीज

मधुमेह एक ऐसी बीमारी है जिसमे इंसान को बार बार पेशाब आती है जिस कारण उसके शरीर में पानी की कमी बनी रहती है और उसका गला बार बार सूखता है।

एनीमिया

एनीमिया से ग्रसित व्यक्ति के शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होती है तो वह खून की कमी का शिकार हो जाता है। और शरीर में खून की कमी के कारण भी गला बार बार सुख सकता है ।

गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज

गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज एक ऐसा डिजीज है जिसमें एसिड आपके पेट से इसोफेगस नली में आ जाता है। इसोफेगस वह नली है जो मुंह से पेट तक भोजन ले जाने में मदद करती है। इस समस्या के कारण भी लोगों को गला सूखने की दिक्कत हो सकती है।

हाइपरकैल्सीमिया

जब शरीर में कैल्शियम की अधिकता हो जाती है तब उसे हाइपरकैल्सीमिया कहा जाता है। इस स्थिति में खून में कैल्शियम का स्तर बढ़ जाता है। इससे पीड़ित व्यक्ति को बार-बार पेशाब जाना पड़ता है। और इसी कारण उसके शरीर में पानी की कमी बनी रहती है और उसका गला भी अत्यधिक सूखता है।
ऐसी किसी भी परिस्तिथि में डॉक्टर का परामर्श लेना ही सबसे सही निर्णय होता है।

FAQs

गला सूखने पर क्या करना चाहिए?

वैसे तो गला सूखने पर अधिक पानी पीना चाहिए और उसके अलावा लौंग को चूसना या पानी में शहद मिलकर आप कुल्ला कर सकते हैं। इससे गला नहीं सूखता है। दही में गुड़ को मिलाकर खाने से भी गाला सूखने की समस्या नहीं होती एवं प्यास बुझती है।

Disclaimer : यह लेख इंटरनेट पर मौजूद कई मेडिकल वेबसाइट्स पर मौजूद जानकारी के आधार पर लिखा गया है। इसमें शामिल प्रत्येक तथ्य व जानकारी केवल आपकी जागरूकता और जानकारी बढ़ाने हेतु प्रेषित किये गए हैं। इस विषय में अधिक जानकारी हेतु कृपया अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment