ईसबगोल की तासीर ठंडी होती है या गर्म?


ईसबगुल एक झाड़ीनुमा पोधा है इसका नाम फारसी भाषा में रखा गया है, फारसी में ईसबगोल का अर्थ होता है घोड़े का कान, यह पोधा घोड़े के कान के समान दिखाई देता है इसीलिए इसे यह नाम दिया गया है। यह धान की तरह दिखने वाला पोधा है जिसका पतला सा तना होता है और इसके सिरे पर गेहू के समान बीज लगे होते हैं यह पंजाब, सिंध , मालवा में अत्यधिक उगाया जाता है। क्या आप जानना चाहते है कि ईसबगोल की तासीर ठंडी होती है या गर्म तो इस लेख को अंत तक जरुर पढ़ियेगा।

ईसबगोल की तासीर ठंडी होती है या गर्म?

ईसबगोल की तासीर ठंडी होती है और इसके कई सारे फायदे भी होते हैं। जैसे ईसबगोल पेट की जलन को खत्म करता है, मुह के छालो से राहत दिलाता है, बवासीर का इलाज करता है, कफ से राहत दिलाता है, सर दर्द, अल्सर आदि से राहत दिलाता है, कोलेस्ट्रॉल को कम करता है, एसिडिटी से राहत दिलाता है। गर्भवती महिला तथा स्तनपान करने वाली महिला को ईसबगोल का सेवन नही करना चाहिए वरना उन्हें इससे नुकसान भी हो सकता है, इसके सेवन से ब्लड प्रेशर कम हो सकता है इसीलिए इसका उपयोग केवल स्वस्थ इन्सान को करना चाहिए इसके आदि नुकसान भी है।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment