पेड़ को संस्कृत में क्या कहते हैं?


पेड़ को संस्कृत में क्या कहते हैं यह प्रश्न परीक्षा की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण है, इस प्रश्न का उत्तर आपको आज के इस लेख में मिल जाएगा। इस प्रश्न का उत्तर जानने के लिए इस लेख को आखिर तक जरुर तक पढ़ियेगा।

पेड़-पोधे, पृथ्वी और जीवन दोनों के लिए जरुरी है, पेड़ हमे जीवनदायिनी वायु ऑक्सीजन प्रदान करते हैं। पेड़ अनेक प्रकार के जीव जन्तुओ का घर है और साथ ही ये भोजन भी प्रदान करते हैं। हमे पेड़ो से कई प्रकार के फल प्राप्त होते हैं जो स्वादिष्ट होने के साथ साथ पोष्टिक भी होते हैं। पेड़ की मदद से ही हमे लकडिया प्राप्त होती है जिससे हम कई प्रकार की वस्तुओ का निर्माण करते हैं जैसे फर्नीचर, खिड़की, दरवाजे आदि। पेड़ हमे मृदा अपरदन और बाढ़ से भी बचाते है। पेड़ो से ही वर्षा का संतुलन बना रहता है वातावरण में शुद्ध हवा रहती है।

पेड़ को संस्कृत में क्या कहते हैं?

पेड़ को संस्कृत में वृक्षः कहते हैं। पेड़ो के कारण ही पृथ्वी पर जीवन सम्भव हो सका है, पेड़ों की कमी होने की वजह से जल, वायु, ध्वनि प्रदूषण सभी तेजी से बड रहे है। जिस वजह से गंभीर बीमारियां फैल रही हैं।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment