पांडवों ने अपना अज्ञातवास कहां बिताया था?


भारत में धर्म से जुड़ी हुई अनेक कथाएँ हैं उन्ही मेसे एक है महाभारत, जिसमे पांडव तथा कोरवो का युद्ध दर्शाया गया है । आज हम आपको बताएँगे कि पांडवों ने अपना अज्ञातवास कहां बिताया था? – Pandav Ne Apna Agyatvas Kaha Bitaya Tha?

पांडवों ने अपना अज्ञातवास कहां बिताया था? – Pandav Ne Apna Agyatvas Kaha Bitaya Tha?

पांडवों ने अपना अज्ञातवास पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मोजूद एक कुंड के पास बिताया था। यहाँ एक मन्दिर भी है ऐसा माना जाता है कि यह कुंड शिवजी के आंसुओं से निर्मित हुआ है और यह मान्यता भी है कि माता सती के वियोग में जब भगवान शंकर के दो आंसू धरती पर आ गिरे थे जो पुष्कर राजस्थान में तथा कटासराज में गिरे थे। पांडव अज्ञातवास के लिए जब निकले थे तब इस कुंड के समीप आ पहुचे थें। यहा जो मन्दिर है वो कटासराज का मंदिर है, इस कुंड पर आने का पांड्वो का कारण था कि उन्हें पानी की जरूरत थी पर पानी पिने से पहले वहा मोजूद यक्ष ने उनसे प्रश्न करना प्रारम्भ कर दिया जो धर्म, जीवन, स्वास्थ्य, नीति और परोपकार आदि से सम्बन्धित थे पर इन प्रश्नों को उत्तर केवल युधिष्ठिर ही दे पाए थे। बाकि भाइयों के द्वारा उत्तर न देने के बाद भी पानी पिने से वे चारो बेहोश हो गये थें।

कुछ और महत्वपूर्ण लेख –

0Shares

Leave a Comment